gurukul-kangri gurukul-kangri gurukul-kangri gurukul-kangri gurukul-kangri gurukul-kangri gurukul-kangri gurukul-kangri gurukul-kangri gurukul-kangri gurukul-kangri
 
 
नियम एवं निर्देश


शिक्षा-सत्र ::
शिक्षा सत्र 1 जुलाई से 20 मई तक रहेगा।

सत्रान्त अवकाश ::
सत्रान्त अवकाश 21 मई से 30 जून तक रहेगा।

छात्रों का अवकाश पर जाना-आना ::
सामान्यत: किसी भी छात्र को शिक्षा-सत्र के मध्य से घर जाने की अनुमति नहीं दी जाती है। परन्तु विशेष परिस्थितियों में छात्र को घर जाने के लिए अवकाश दिया जा सकता है। छात्र को अवकाश पर जाने के लिए अनुमति देने का अधिकार इस प्रकार होगा।

(क)  आश्रमाध्यक्ष की संस्तुति पर 5 दिन तक का अवकाश मुख्याध्यापक द्वारा दिया जा सकता है।
(ख) 5 दिन से अधिक दिनों का अवकाश मुख्याध्यापक की संस्तुति पर  ही दिया जा सकता है। किसी अन्य के द्वारा नहीं।
(ग)
  सत्र के मध्य में छात्र को केवल एक बार ही विशिष्ट परिस्थितियों में अवकाश की अनुमति दी जायेगी।

गुरुकुल में प्रविष्ट छात्रों की दिनचर्या ::
1- जागरण/शौचादि 04-00 बजे से 04-30 बजे तक
2- व्यायाम/योगासन 04-30 से 05-00 बजे तक
3- स्नान 5-00 से 6-00 बजे तक
4- स्वाध्याय (Self Study) 6-00 से 6-30 बजे तक
5- संध्या हवन (प्रात:) 6-30 से 7-00 बजे तक
6- प्रात:राश (नाश्ता) 7-00 से 7-30 बजे तक
7-  स्वाध्याय (Self Study) 7-30 से 8-30 बजे तक
8- विद्यालय 8-30 से 12-00 बजे तक
9- भोजन/विश्राम (दोपहर) 12-30 से 2-00 बजे तक
10- विद्यालय 02-00 से 4-00 बजे तक
11- शौचादि तथा मध्याह्‌न 04-00 से 4-30 बजे
12- क्रीड़ा 4-30 से 5-75 तक
13- संध्या हवन (सायं) 5-75 से 5-55 तक
14- भोजन (रात्रि) 6-15 से 7-30 बजे
15- स्वाध्याय (Self Study) 7-30 से 10-00 बजे तक
16- शयन (Self Study) 10-00 से 04-00 तक

परीक्षा सम्बन्धित निर्देश >>

परीक्षा व्यवस्था ::
(क)  सत्र में तीन परीक्षाएँ होंगी। त्रैमासिक, अद्धर्वार्षिक तथा वार्षिक।
(ख)  त्रैमासिक/षट्‌मासिक परीक्षा की व्यवस्था मुख्याध्यापक करेंगे।
(ग)  प्रथम श्रेणी से अष्टम श्रेणी तक की वार्षिक परीक्षा की व्यवस्था भी मुख्याध्यापक करेंगे।
(घ)  नवम से द्वादश श्रेणी तक की वार्षिक परीक्षा कुलसचिव गुरुकुल कांगड़ी विश्वविद्यालय, हरिद्वार द्वारा ली जाएगी।
(ड)  दशम श्रेणी उत्तीर्ण कर लेने के पश्चात्‌ छात्र को विद्याधिकारी (हाई स्कूल) का प्रमाण पत्र तथा बारहवीं कक्षा उत्तीर्ण कर लेने के पश्चात्‌ छात्र को विद्या विनोद (इण्टरमीडिएट) का प्रमाण पत्र दिया जाएगा।

परीक्षाओं का माध्यम ::
गुरुकुल में ली जाने वाली सभी परीक्षाओं का माध्यम नागरी लिपि में हिन्दी ;देवनागरी लिपि, अंग्रेजी तथा कम्प्यूटर विषय को छोड़कर सभी विषयों के लिएद्ध तथा अंग्रेजी ;रोमन लिपिद्ध होगा।

परीक्षा परिणाम ::
प्रथम श्रेणी से अष्टम श्रेणी तक का वार्षिक परीक्षा परिणाम 15 मई तक घोषित कर दिया जायेगा तथा सत्रान्त अवकाश हेतु प्रत्येक छात्र के घर भेज दिया जाएगा।

उत्तीर्णांक ::
1- सामान्यत: प्रत्येक विषय में उत्तीर्ण होने के लिए 40 प्रतिशत अंक प्राप्त करने आवश्यक हैं।
2- वृताभ्यास: आश्रम अनुशासन के 50 अंकों में से 45 अंक प्राप्त करना आवश्यक है।

विशेष विज्ञप्ति ::
1- कोई भी परीक्षार्थी गुरुकुल की किसी भी परीक्षा में व्यक्तिगत रूप से सम्मिलित नहीं हो सकेगा। गुरुकुल के आश्रम में रहना तथा नियमित रूप से श्रेणियों में उपस्थित होकर अध्ययन करना आवश्यक है।
2- यदि कोई छात्र विद्यालय/आश्रम से बिना अनुमति के जाता है तो उसका उत्तरदायित्व संस्था पर नहीं होगा।
3- विद्यालय से सम्बन्धित सभी प्रकार का पत्र- व्यवहार सहायक मुध्ख्याधिष्ठाता गुरुकुल कांगड़ी हरिद्वार के नाम से ही करें।
4- विद्यालय गुरुकुल कांगड़ी हरिद्वार से सम्बन्धित किसी भी वाद का न्याय क्षेत्र जनपद हरिद्वार होगा।
5- अभिभावक द्वारा धन सम्बन्धित कार्यालय में जमा करवाने पर संस्था का उत्तरदायित्व होगा। व्यक्ति विशेष को धन देने पर संस्था का किसी भी प्रकार का उत्तरदायित्व नहीं होगा। छात्रों को कोई जेब खर्च न दें।
6- दो माह का भोजन व्यय प्राप्त न होने पर ब्रह्मचारी का नाम पृथक्‌ कर घर भेज दिया जायेगा।
7- एक बार नाम पृथक्‌ होने पर पुन: प्रवेश हेतु अभिभावक को नव प्रवेश-प्रक्रिया अपनानी होगी और व्यय देना होगा।
8- संस्था द्वारा धन प्राप्ति हेतु की गई कानूनी कार्यवाही का व्यय-भार ब्रह्मचारी के पिता/संरक्षक/अभिभावक वहन करेंगे।

 
 

All Copyrights reserved to
Gurukul Kangri Vidhyalaya, Haridwar